Founder President



Sh. Mahendra Singh Tikait

(6 Oct 1935 - 15 May 2011)

भारतीय किसान यूनियन - BHARTIYA KISAN UNION

Indian Farmer Representative Organization Founded in 1987
CONTACT US
President



Sh. Naresh Singh Tikait
About Shri Mahendra Singh Tikait

Shri Mahendra Singh Tikait was a well known farmer leader in the western area of Uttar Pradesh state, India. He was born in 6 October 1935 at village Sisauli in Muzaffar Nagar District of Uttar Pradesh. He was Founder President of the Bharatiya Kisan Union, a farmers' movement, and was revered as the farmers’ "second messiah" after the Prime Minister Chaudhary Charan Singh. Shri Mahendra Singh Tikait died in Muzaffar Nagar on 15 May 2011 at the age of 75.

The hereditary title of Tikait was apparently conferred on his family by the seventh-century emperor Harshavardhan. As per the hereditary eldest son of the family become the chaudhary of Baliyan Khap. Accordingly after demise of his father Shri Mahendra Singh Tikait had become the chaudhary of Baliyan Khap, at the age of eight.

Tikait had a firm belief in his thousands years old regional and caste's traditions and culture. He opposed the Supreme Court decision that marriages between people from the same gotra were valid. "We live by a moral code where honour has to be protected at any cost. Same gotra marriages are incestuous, No society would accept it. Why do you expect us to do so? Incest violates maryada (honour) and villagers would kill or be killed to protect their maryada," he had said in a TV interview.

LATEST NEWS




Card image cap
खेती के मुद्दों को लेकर भारतीय किसान यूनियन 23 सितम्बर से 2 अक्टूबर 2018 तक हरिद्वार टिकैत घाट से दिल्ली किसान घाट तक किसान क्रान्ति यात्रा

भारत के किसान आन्दोलन की समन्वय समिति की बैठक का आयोजन दिल्ली में किया गया। जिसमें किसानों की समस्याओं पर गहनता से विचार कर कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों पर देश में बड़ा आन्दोलन चलाने का निर्णय लिया गया। बैठक में उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, मध्यप्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक, तमिलनाडु के किसान नेताओं ने भाग लिया।

Posted By BKU Tikait - Wednesday, SEP 05, 2018

Card image cap
प्रदेश सरकार द्वारा घोषित गन्ना मूल्य नाकाफी, चीनी मिलों से सरकार की मिलीभगत के चलते गन्ना किसानों के हितों पर किया कुठाराघातः- चौ0 राकेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन सरकार द्वारा घोषित मूल्य पर संतुष्ट नहीं है। उत्तर प्रदेश सरकार से मांग करती है कि गन्ना मूल्य पर पुनर्विचार करते हुए अपने संकल्प पत्र में किये गये वादे के अनुसार गन्ने का मूल्य 450 रुपये प्रति कुन्तल घोषित कर किसानों को लाभकारी मूल्य दें अन्यथा भाकियू पूरे प्रदेश में इसके विरूद्ध आन्दोलन करेगी। कल भाकियू प्रदेश भर में जिला मुख्यालयों पर गन्ना जलाकर अपना विरोध दर्ज करायेगी।

Posted By BKU Tikait - Friday, OCT 27, 2017

Card image cap
Ch. Naresh Tikait meet CM Yogi adityanath

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौ0 नरेश टिकैत जी के नेतृत्व में भाकियू के प्रतिनिधिमंडल ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के आवास 5 कालिदास मार्ग पर भेंट कर किसानों की समस्याओं पर चर्चा कर समाधान किये जाने की मांग करते हुए कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था से लेकर किसान समस्याओं पर संतोषजनक कार्य नहीं हो पा रहा है। गन्ना भुगतान एवं ब्याज, आलू की खरीद, धान खरीदने की शत-प्रतिशत व्यवस्था, जंगली जानवरों से हो रहे नुकसान, रंगराजन कमेटी आदि पर विस्तृत चर्चा की।

Posted By BKU Tikait - Friday, Aug 04, 2017

Phone:
092195 71111
Email:
info@bku.co.in
Address:
Main Road, Sisauli
District Muzaffar Nagar,
Uttar Pradesh
Pincode - 251319
 

url:

"26 जनवरी को किसान परेड ऐतिहासिक होगी!" चौधरी राकेश टिकैत


किसान परेड में राजनैतिक दलों के झंडो और व्यक्तियों के शामिल होने पर रहेगी पूरी तरह से पाबंदी - भाकियू


गाजीपुर बॉर्डर पर 26 जनवरी की तैयारियां जोरों पर है। कल बिजनौर के किसान दिगम्बर सिंह के नेतृत्व में हजारों ट्रैक्टरों के साथ गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचे। लठ की जगह गन्ने पर संगठन और देश के झंडों को लगा के हजारों किसान देर रात धरने पर पहुंचे। रास्ते मे कई जगह किसानों के ट्रैक्टरों को रोकने का प्रयास किया गया लेकिन किसानों के जज्बे और तीन काले कानून से बचने के दृढ़ निश्चय उन्हें रोक नही पाये। 

भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत ने बताया कि कल (22-01-2021) से गाजीपुर बॉर्डर पर ट्रैक्टर आने शुरू हो गए है। 26 जनवरी के ट्रैक्टर परेड के लिये पश्चिमी उत्तर प्रदेश एवं  उत्तराखंड के हर जिलों से भारतीय किसान यूनियन के झंडे तले करीबन 25000-30000 ट्रैक्टर गाजीपुर बॉर्डर पर पहुचेंगे। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों को छोड़कर अन्य जिलों के कार्यकर्ता अपने जिले में ही 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकालेंगे। 

संगठन के ट्रैक्टरों को रोकने के लिये उत्तर प्रदेश प्रशासन, संगठन के कार्यकर्ताओं को नोटिस भिजवा रहे है। जिसमें उन पर लॉक डाउन तोड़ने एवं धारा 144 का उलंघन करने पर कानूनी करवाई करने दबाव डाल के ट्रैक्टर परेड नही करने के लिये कहा जा रहा है। आज भी अलीगढ़ सहित कई जिलों में ट्रैक्टरों को रोक दिया गया है। किसान वही पर धरना दे रहे है। 

विभिन्न जिलों में प्रशासन की तरफ से कार्यकर्ताओं को धमकियां भी दी जा रही एवं प्रशासन पुलिस को भी उनके घर और गावँ के आसपास लगा रखा है। दिल्ली की तरफ आने वाले रास्तों पर चेकिंग और बैरिकेड लगा के किसानों को रोकने का भरपूर प्रयास किया जा रहा है। 

"सरकार, किसानों को कितना भी रोकने की कोशिश कर ले लेकिन गणतंत्र दिवस पर किसानों को अपने देश के स्वाभिमान दिवस को मनाने से रोक नही सकते। देश का मजबूर किसान आज अपने हक और संघर्षो के लिये खड़ा है।" धर्मेंद्र मालिक, भाकियू। 

सरकार के नकारात्मक और दंभपूर्ण रवैये से किसान नाराज है। मिट्टी की पूजा करने वाला किसान देश के गर्व के दिन को धूम धाम से हर ट्रैक्टर पर तिरंगे के साथ मनायेगा। देश की सरकार किसानों से उनका देश प्रेम नही छीन सकती। 26 जनवरी को किसान दिल्ली की सड़कों पर पूरे स्वाभिमान के साथ देश के हर एक जन की अगुवाई में खड़ा होगा।


आज आंदोलन को मिली सफलतायें - 

लखनऊ में राजभवन घेराव जाते किसान 

  • उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की सरकार द्वारा राजभवन घेराव कार्यक्रम पर रोक लगाए जाने के बावजूद भी सफल रहे कार्यक्रम।
  • जनपद सहारनपुर व हरिद्वार से घेराव करने देहरादून जा रहे किसानों को छुटमलपुर, ज्वालापुर, एवं डोईवाला में किसानों को रोके जाने पर किसानों ने देहरादून के दोनों बॉर्डर को बंद कर दिया। लगभग चार घंटे तक देहरादून के दोनों रास्ते बंद रहे। इसके बाद देहरादून से अधिकारियों ने आकर ज्ञापन लिया।
  • लखनऊ में पुलिस की पकड़ झगड़ के बावजूद भी गोसाईंगंज में हजारों किसान इकठ्ठा हुये। इसके बाद राज्यपाल भवन के लिए निकले। भारी पुलिस व्यवस्था के बावजूद भी पुलिस किसानों को नही रोक पायी। किसानों के एक प्रतिनिधि मंडल को ले जाकर राजभवन में राज्यपाल महोदय के बाहर होने के कारण विशेष सचिव को ज्ञापन दिया गया। 

जय जवान, जय किसान

भवदीय,

धर्मेंद्र मलिक 

राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी 

भारतीय किसान यूनियन 

url:

प्रेस नोट - भारतीय किसान यूनियन ( 20-01-2021)





प्रेस नोट

(20-01-2021)

  

सरकार के साथ आज की बैठक सकारात्मक चौधरी राकेश टिकैत अगली बैठक 22 जनवरी 12:00 बजे विज्ञान भवन में होगी कल संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में सरकार के प्रस्ताव पर होगा फैसला

कल 11:00 बजे किसान परेड को लेकर दिल्ली पुलिस के साथ होगी बैठक|

आज 20 जनवरी को दसवें दौर की बैठक काफी सकारात्मक रही बैठक के शुरू होने पर कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि सरकार खुले मन से चर्चा को तैयार है और आप संशोधन पर चर्चा करें। इस पर किसान नेताओं ने कहा कि हम संशोधन पर नहीं बिल वापसी पर बात करानेआए हैं। अगर आपको इस पर चर्चा करनी है तो चर्चा करें, अन्यथा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बात करें ।इसके बाद संयुक्त मोर्चा के नेताओं ने एकमत होकर कृषि मंत्री जी को कहा कि एक तरफ आप समाधान ढूंढने की बात करते हैं और  दूसरी तरफ एनआईए हरियाणा पुलिस उत्तर प्रदेश पुलिस, उत्तराखंड पुलिस, और अन्य राज्यों के पुलिस के माध्यम से आंदोलनकारियों पर दबाव बनाने के लिए कार्यवाही कर रहे हो आंदोलन में मदद कर रहे लोगों को जो अपने आमदनी से कुछ बचा कर भावनात्मक रूप से दान कर रहा है उस पर राज्य के कलाकारों को गायको को , सामाजिक संगठनों को एनआईए के नोटिस भेज कर दबाव बना रहे हो ।जिस पर कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर जी ने कहा की यह सब बातें हमारे संज्ञान में नहीं है आपकी पिछली बैठक में हुई बातचीत का संज्ञान लेकर गृह मंत्रालय से वार्ता की है । चर्चा के बाद अब कोई नोटिस नहीं जाएंगे, आपको जो नोटिस प्राप्त हुए हैं उनको हमें दिए जाएं।  4:00 बजे तक चर्चा के ब्रेक लिया गया।ब्रेक के बाद  दोबारा बैठक शुरू होने पर कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर जी ने प्रस्ताव दिया कि हम इन बिलों को 2 साल तक के लिए स्थगित कर किसान और सरकार के प्रतिनिधियों की एक कमेटी का गठन कर सकते हैं। कमेटी बिल वह न्यूनतम समर्थन मूल्य पर चर्चा कर जो राय देगी उसी पर आगे का फैसला कर दिया जाएगा ।

सरकार के इस प्रस्ताव पर किसानों ने कहा कि कल आप के प्रस्ताव पर संयुक्त मोर्चा की बैठक में निर्णय कर आपको अवगत कराया जाएगा। सरकार के साथ अगली बैठक 22 जनवरी को 12:00 बजे विज्ञान भवन में होगी |

कल ट्रैक्टर परेड को लेकर 11:00 बजे दिल्ली पुलिस के साथ किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल वार्ता करेगा इस विषय पर दिल्ली पुलिस के साथ आज भी चर्चा की गई है लेकिन उसमें कोई सहमति नहीं बन पाई थी|

भवदीय

धर्मेन्द्र मलिक

भारतीय किसान यूनियन

9219691168

url:

धरना स्थल गाजीपुर बॉर्डर से आज की खबरें


गाजीपुर बॉर्डर पर उपस्थित किसानों की भीड़ 

आज आंदोलन का 55वां दिन हो चुका है। जैसे-जैसे दिन बढ़ते जा रहे है वैसे-वैसे आंदोलन बढ़ता जा रहा है। तीन काले कृषि कानूनों के विरुद्ध और न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानून बनाने को लेकर देश भर से किसान आंदोलन से जुड़ रहे है। महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, बिहार, और उत्तर प्रदेश से हजारों किसान आज धरना स्थल पर पहुंचे और अपना तंबू गाड़ा गाजीपुर बॉर्डर पर। 

महाराणा प्रताप के पुण्यतिथि के अवसर पर गाजीपुर बॉर्डर पर महाराणा की प्रतिमा पर राकेश टिकैत जी ने पुष्पांजलि अर्पित की| 

बॉलीवुड के जानेमाने कलाकार सुशांत सिंह, गुल पनाग, पंजाबी गायक हर्ष चीमा, हरभजन मान, कंवर ग्रेवाल, सोनिया मान, इत्यादि गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंच कर किसानों के संघर्ष को अपना समर्थन दिया। मंच से कलाकारों ने किसानों का हौसला अफजाई किया और उनके संघर्ष को सलाम किया|




धर्मेंद्र मलिक 
राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी  
भारतीय किसान यूनियन 

गाजीपुर बॉर्डर से राष्ट्रीय और क्षेत्रीय मीडिया में आज की खबरें -

  1. https://www.devdiscourse.com/article/headlines/1411854-farmers-not-against-any-party-but-centres-policy-rakesh-tikait
  2. https://www.google.com/amp/s/www.news18.com/amp/news/india/farmers-not-against-any-party-but-centres-policy-says-bku-chief-rakesh-tikait-3309065.html
  3. https://in.news.yahoo.com/farmers-not-against-party-centres-151044548.html
  4. https://www.google.com/amp/s/www.tribuneindia.com/news/nation/farmers-not-against-any-party-but-centres-policy-rakesh-tikait-200233
  5. https://timesofindia.indiatimes.com/india/farmers-not-against-any-party-but-centres-policy-rakesh-tikait/articleshow/80333480.cms
  6. https://youtu.be/fCb10gTmF3g
  7. https://youtu.be/CtvQgvswcdk
  8. https://youtu.be/BUDrTt5KECU 
  9. https://indianexpress.com/article/opinion/let-the-farmers-lead-7151460/?utm_source=whatsapp_web&utm_medium=social&utm_campaign=socialsharebuttons
  10. https://janchowk.com/beech-bahas/farmers-have-captured-the-neck-of-horse/
  11. https://in.news.yahoo.com/disappointed-sc-panel-stir-continue-180415399.html
  12. https://www.outlookindia.com/newsscroll/disappointed-with-sc-panel-stir-to-continue-till-laws-get-repealed-bku-leader-rakesh-tikait/2009380
  13. https://www.devdiscourse.com/article/headlines/1404143-disappointed-with-sc-panel-stir-to-continue-till-laws-get-repealed-bku-leader-rakesh-tikait